UP TGT PGT news |चयनबोर्ड से चयनित नवनियुक्त शिक्षकों के वेतन भुगतान के संबंध में

 चयनबोर्ड से चयनित नवनियुक्त




शिक्षकों के वेतन भुगतान के संबंध में

----------------------------------------

 

उत्तर प्रदेश सरकार के शासनादेश दिनांक 31 जुलाई 2020 के द्वारा उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड से चयनित तथा विद्यालयों में नियुक्ति पा चुके शिक्षकों के शैक्षिक व अन्य अभिलेखों के सत्यापन होने तक  उनके वेतन भुगतान की प्रक्रिया शुरु करने पर रोक लगाई गई है।


ऐसे शिक्षकों के शैक्षिक व अन्य अभिलेखों के सत्यापन निर्धारित समयावधि के अंतर्गत कराने की जिम्मेदारी जिला विद्यालय निरीक्षकों को दी गई है।

----------------------------------------


प्रदेश में हजारों की संख्या में चयन बोर्ड से चयनित अभ्यर्थियों ने जुलाई में ही विद्यालयों में कार्यभार ग्रहण कर लिया है। विद्यालयों के द्वारा शिक्षकों के शैक्षिक व अन्य अभिलेख जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालयों को दिए जा चुके हैं।  किंतु अभी तक इन नवनियुक्त शिक्षकों के अभिलेखों का सत्यापन नहीं कराया जा सका।  ज्यादातर जनपदों में अभी तक शिक्षकों के अभिलेख सत्यापन के लिए बोर्डों / विश्वविद्यालयों को भेजें भी नहीं गये हैं। जिसके कारण शिक्षकों का वेतन भुगतान भी शुरू नहीं हो पा रहा है।


नवनियुक्त अनेक शिक्षकों के द्वारा यह भी अवगत कराया गया है कि सत्यापन के नाम पर उनसे कई - कई हजार की रिश्वत की मांग की जा रही है।


आखिर इस सरकार मे चल क्या रहा है..


---------------------------------------


उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ (ठकुराई गुट) के द्वारा आज दिनांक 16 सितंबर 2020 को अपर मुख्य सचिव (माध्यमिक) तथा  शिक्षा निदेशक माध्यमिक को दिए गए पत्र के माध्यम से मांग किया गया है कि--


शासनादेश दिनांक 31 जुलाई 2020 मे निर्धारित शपथ पत्र  के आधार पर अविलंब शिक्षकों के वेतन भुगतान की कार्यवाही सुनिश्चित कराई जाए। इसके साथ ही नवनियुक्त शिक्षकों से अभिलेखों के सत्यापन के नाम पर अवैध धन वसूली को भी रोका जाए।


लालमणि द्विवेदी

प्रदेश महामंत्री.

Post a comment

0 Comments